आपका जीवन साथीकौन ?

Events Guruvani

आपका जीवन साथीकौन ? Who is your life partner ? अगर स्थायी निराकरण चाहते हो तो किसी स्थायी के साथ अपना रिलेशन बढ़ाओ l इस दुनियाँ में स्थायी कोई नहीं है – तुम्हारे घर द्वार , माता पिता , भाई बहन , पत्नी पुत्र , मित्र , नातेदार , रिश्तेदार, व्यापार, कार – कोई भी […]

इस कलिकाल में भक्ति

Events Guruvani

हृदय में कृष्ण प्रेम की आग जला कर आओगे तो कृष्ण सामने खड़ा मिलेगा गोपियों की तरह – बोलेगा कृष्ण , बोलेंगे राम – इसी कलियुग में हजारों संतों को दर्शन हुआ । अभी वृन्दावन जाओ – अभी भी ऐसे ऐसे संत हैं जिनको रात्रि में राधा रानी आकर खीर खिला कर चली जाती हैं […]

क्या भक्तों को दुःख नहीं मिले

Events Guruvani

परिस्थिति जन्य दुःख इस संसार में ऐसा कोई भक्त नहीं हुआ जिसको न हुआ हो – प्रह्लाद , मीरा , ध्रुव – परिस्थितियाँ अनुकूल हैं क्या इनकी ? पर ये दुखी क्यों नहीं हैं ज्यादा ? – स्वस्थिति में हैं । परिस्थितियाँ किसी की अनुकूल नहीं रहीं – इस दुनियाँ में – भगवान की नहीं […]

आहार – विहार

Events Guruvani

आवश्यक आवश्यकताओं के लिए जूझते हुए मरते मैंने किसी को नहीं देखा , कोई यदाकदा अखबारों में आता है कि भूख से उड़ीसा के कालाहाँड़ी में एक आदमी मर गया पर यह कभी सुना है कि खाना खा खा फ़ूड प्वायजनिंग से कितने लोग मर रहे हैं – पर यह भी एक सत्य बात है […]

क्या परमात्मा तुम्हें दुःख देना चाहते हैं। ?

Events Guruvani

भगवान को तो मानते हो न ? ही इज़ ऑलमाइटी – सर्वशक्तिमान हैं – वो भला क्यों चाहेंगे कि कोई दुःख में रहे और अगर ऑलमाइटी हैं तो सबको सुखी क्यों नहीं कर देते ? सबको आनंद क्यों नहीं दे दे रहे हैं ? ऑलमाइटी हैं न – सब कुछ कर सकते हैं न – […]

मन्त्र साधना

Events Guruvani

याद रखिए – चाहे प्रेम हो या नफ़रत – इन दोनों में शब्द का अभाव हो और अभिव्यक्ति का प्रभाव हो , शब्दों से प्रेम नहीं हो सकता – आई लव यू , आई लव यू , आई लव यू , आई लव यू – पता नहीं कितने लोग कितनो को कहते रहते हैं , […]

दान का अर्थ

Events Guruvani

याद रखो – अगर तुमने यह समझ लिया कि मैंने उसके लिए कुछ किया तो यह दान न रहा , यह सिम्पैथी हो गई , सहानुभूति हो गई । बेचारा भूखा था इसलिए हमने उसको रोटी दे दी , बेचारे के पास कपडे न थे इसलिए तुमने अपने पुराने कपडे दे दिए , बेचारे के […]

विद्वत्ता-Intelligence

Events Guruvani

कोई पुस्तकों से देख कर बोलता है , कोई कंठस्थ कर लेता है – कई श्लोक कई चौपाइयाँ – तो हम बड़ा विद्वान समझते हैं उनको – बड़े विद्वान पुरुष हैं – उनको गीता याद है , रामायण याद है , भागवत याद है पर विद्वत्ता यह नहीं है कि आपकी मेमोरी कितनी स्ट्रांग है […]

दुःख का एकमात्र कारण

Events Guruvani

………. शून्य में होओ , और जब तुम शून्य में हो तभी परमात्मा उतरेगा , जब तुम शून्य में रहोगे तभी तुम्हारे जीवन का आनंद तुम्हारे भीतर उतरेगा …….. कचरे भरे पड़े हैं – कहाँ से उतरेगा कोई , ऑलरेडी ऑक्युपाइड है – कहाँ से कोई आएगा , तुम लिखो तो खाली करके घर को […]

पातञ्जलि सूत्र – स्थिर सुखम् आसनम्

Events Guruvani

पहले तो अपने मन में इस बात को स्थिर कर लो , समझ लो इस चीज को कि अगर तुम ज्यादा प्रयत्नशील हो , बहुत स्ट्रगलिंग लाइफ है – दैट मीन्स – आप सही रास्ते पर नहीं जा रहे हो , तुम्हें रुकना होगा और रुक कर विचार करना होगा और फिर से धारा का […]